Vashikaran Specialist Molvi Baba

Vashikaran specialist - Get all Vashikaran mantra or love spells by best Vashikaran specialist Molvi Ji solve life issues girlfriend back/boyfriend back by vashikaran prediction.

Get Your Ex Lover Back In A 3 days

Get your ex lover back in A week by 786 Molvi Ji then contact and solve the all love issues.

Muslim Astrologer Baba Razak Ji

Muslim astrology Baba Razak Mohamad Ji solve life issues by tantra mantra.

Husband - Wife Vashikaran Yantra

Husband - Wife vashikaran yantra and solution by Molvi Ji. Because 25 years experience in tantar mantar.

Love Spell BY Molvi Ji

We are offering all love spell which have a great powerful and able to solve your love problems.

Garbh Dharan Ke Totke

  • पीपल, सोंठ, कालीमिर्च और नागकेसर इनको समभाग महीन पीस छान कर 4 माश लें और 6 माशे घी मे मिलाकर 7 दिन तक प्रात:खाने से बांझ भी गर्भवती हो जाती है|

  • नागकेसर और सुपारी का चूर्ण सेवन करने से भी गर्भ रह जाता है|

  • गर्भ रहने पर, यदि गर्भवती ढाक का एक पता ढूध मे पीसकर पीती है तो निश्चय ही वीर्यवान पुत्र होता है|
      नोटः ढाक के बीजों की राख और हीग इन दोनों को ढूध मे मिलाकर पीने से गर्भ नहीँ रहता|

  • पुत्रजीव वृक्ष की जड़ ढूध मे पीसकर पीने से दीघ्रयु पुत्र होता है|

  • पुत्रजीव वृक्ष की जड़ और देवदारु इन दोनों को ढूध मे पीसकर पीने से अवश्य पुत्र होता है|

  • बिजौरे नींबू के बीज, बछड़े वाली गाय के ढूध मे पीसकर पीने से निश्चय ही पुत्र होता है|

  • 4 माशे नागकेसर, बछड़े वाली गाय के ढूध मे पीसकर पीने से निश्चय ही पुत्र होता है|

  • काले तिल, सोंठ, पीपर, कालीमिर्च, भारगी और पुराना गुड़ इन सबको बराबर- बराबर, चार - चार माशे लेकर, पाव भर जल मे ओउटए और सुबह - शाम इसका सेवन करें|

Dhan Prapti Ke Totke

1. हल्दी की पांच गांठ लेकर उसे लश्मी पूजन करके 108 मंत्रों से अभिमंत्रित करके भवन मे 'शुक्र ' के स्थान पर भूमि मे दबा दें|

2. 108 दिन बरगद की पूजा करके उसे जल से सिंचित करे| 108 वे दिन उसे प्रणाम करके उसकी एक जड़ का छोटा टुकड़ा लाये और ताबीज़ मे भरकर कमर मे बाधे तो लश्मी प्रप्त होती है और दुबलापन दूर होता है|

3. असगन्ध की जड़ को भी उपयुक्त तरीके से प्रयुक्त किया जा सकता है|

4. धातु और लश्मी की दुर्बलता हेतु 'आक' के जड़ का ताबीज़ बनाकर पहनें| आक की पूजा रविवार से प्रारंभ करके शुक्र तक करें और जल दें| शुक्र के प्रांत:काल उतर दिशा की जड़ का एक टुकड़ा लाकर ताबीज़ बनायें|

5. श्वेतार्क की जड़ उपयुक्त विधि से लेकर भवन मे शुक्र के स्थान पर दबाने से लश्मी की वृद्धि  होती है और भूत-प्रेत भाग जाते हैं| 

6. लश्मी को प्रसन करने के लिये शुक्र के स्थान पर भवन मे 'सिद्ध कुबेर कृत लश्मी यंत्र' दबाने से निशिचत  अतुल लश्मी प्रप्त होती है|

7. प्रतिदिन जिमीकन्द एवं तेज पते का 21 दिन तक लश्मी मंत्र के साथ हवन करने से घर मे लश्मी बनी रहती है|

8. एकाशी नारियल प्रप्त कर उसका पूजन करके घर मे प्रतिषिठत करने से सभी प्रकार की मनोकामना की पूर्ति होती है|

9. घीक्वार, आक, गेंदा, हल्दी आदि के पौधे घर के दार या आंगन मे लगाने से लश्मी की प्राप्ति होती है| 

Bail Ke Sig Ka Vashikaran

रविवार के दिन कोई बैल मरे, तो उसे ले जाने वाले मोची के घर से उसका सींग ले आये| उस सींग का मांस आदि थोड़ा निकाल दे| उसमे उस स्त्री के बायें पैर का मोजा डालें, जिसे वश मे करना हो और चौराहे की मिटटी लाकर उसे अपने स्नान के प्रथम जल से गूध ले, इसमे अपना एक बाल तोड़ कर ( सींग मे ) डालें ओर मिटटी से उसका मुह बन्द करके निर्जन कमरे मे 501 रूद्र मंत्र का जाप करके उसको धूप दीप दिखाये| फिर उसे उस नारी के घर के सामने या घर की चार दीवारी मे कही गाड़ दे, तो वह नारी सब कुछ भूलकर आपकी प्रेयसी बन जायेगी और आप जो चाहेगें, वही करेगीं|

Vashikaran Ke Aghor Panthi Totke


1. स्त्री जिन दिनों रजस्वला हो उन दिनों पांच अखण्डित लौंग लेकर उन्हें अपनी भग मे सारी रात भिगोवें| ततयपशचत उन लोंगो को पीसकर जिस पुरुष के मस्तक पर डाले, वह उसके वश मे रहता है|

2. पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र मे अनार तोड़ लाए| उस अनार की धुप देकर अपनी दायी भुजा मे बाधकर जाएं तो प्रत्येक वशीभूत हो जाएगा|

3. साबुत काले उड़द मे मेहंदी मिलाकर जिस दिशा मे वर या वधू का घर हो उस तरफ फेंक देने से वर वधू मे प्यार बढ़ता है| क्लेश समाप्त हो जाता है| यह क्रिया जहा पर विवाह हुआ है| वहा से ही करनी है|

4. परिवार मे सुख शांति और समृद्धि के लिए प्रतिदिन प्रथम रोटी के चार बराबर भाग करे, एक गऊ को, दूसरा काले कुते को, तीसरा कौए को और चौथा चौराहे पर रख दें|

5. भोज पत्र के ऊपर लाल चदन से शत्रु का नाम लिखकर शहद मे डूबा देने से शत्रु वशीभूत हो जाता है|

6. चिता की भस्म, कूठ, वच, तगर और कुमकुम इन सबको एक साथ पीसकर स्त्री के मस्तक पर और पुरुष के पांच के नीचे डालने से वह वशीभूत हो जाता है|

7. हल्दी, गौमूत्र, घी, सरसो और पान के रस को एकत्र पीसकर शरीर पर लगाने से सित्रयां वशीभूत होती है|

8. विजोरे की जड़ और धतूरे के बीज को प्याज के साथ महीन पीसकर जिसे सुघाया जाए वह वश मे हो जाता है|

9. काकजंघा, तगर, केसर आदि मैनसिल इन सब को एक साथ पीसकर स्त्री के मस्तक पर और पुरुष के पांव के नीचे डालने से वह वशीभूत हो जाते है|

10. तगर, कूठ, हरताल और केसर इनको समभाग मे लेकर अनामिका उगली के रक्त मे पीसकर मस्तक पर तिलक लगाने से देखने वाले सब लोग वशीभूत हो जाते है|

Purush Vashikaran Ke Garamin Totke

1. शहद, तगर, पीपरामूल, भेड़सिगा, पीपर, जटामासी तथा अपने शरीर के पाचों इन्द्रियों का मल लेकर उसे मिला लें फिर अपने सम्पूर्ण बदन से उसे लगाकर स्नान कर लें| ऐसा करने पर आपका पति हमेशा आपके वश मे रहेगा|

2. शिलाजीत, गोरोचन, केशर तथा घी कवार को मिलाकर आंख मे काजल को तरह इस्तेमाल करके अपने प्रेमी के पास जाने से वह उसके वश मे बना रहता है|

3. शतावरी, गोरोचन, गेरू, पदम केसर का मिश्रण करके घोल तयार करने के पश्चात पुष्य नक्षत्र मे काजल करने से प्रेमी तथा पति दोनों वश मे बने रहते हैं|

4. सरसों और अमरबेल इसकी गुटिका बनाकर मुख मे रखने से प्रेमी वश मे हो जाता हैं|

5. प्रेमी को वश मे करने के लिए भगराज की जड़ को अपने मुख मे रखकर जो भी औरत अपने प्रेमी के पास जायेगी, वह सदा के लिए उसका बन जायेगा|

6. कश्मीर केसर, तगर, कूट, हरिताल को बराबर मात्रा लेकर उसमे अपने कनकी उंगली का दो बूद खून मिलाकर किसी डिब्बे मे बद करके रख लें| बिन्दी के ऊपर लगाकर अपने माथे पर लगाये| ऐसा करने से औरत का पति हमेशा उसके वश मे बना रहता है|

7. सफेद आक की जड़ को लेकर भेड़ की मूत्र के साथ पुष्य नक्षत्र मे पीसकर किसी सुरषित वस्तु मे बद कर रख लें| समय समय पर बिन्दी के स्थान पर इसका लेप लगावें| इससे पति जीवन भर के लिए आपका बना रहेगा|

8. अपने  शरीर का मैल श्वेत आक की जड़, मजीठ, मोथा तथा वच को बराबर मात्रा मे लेकर पीस लेने के पश्चात टीका लगाकर प्रेमी के पास जाने से क्षणों मे वह उसका दीवाना हो जाता है| अर्थात वश मे आ जाता है|

9. श्वेत जड़ तथा श्वेत विष्णुक्रांता की जड़ को पीसकर उसका टीका लगाने से प्रेमी का वशीकरण हो जाता है|

10. सुपारी मे अपने बदन, स्तन, आँख, पैर, नाक का मैल मिलाकर उस पुरुष को खिलाये जिसे आप अपना प्रेमी बनाना चाहती है| अथवा प्रेम को प्रदर्षित करना चाहती है| वह आपके वश मे हो जायेगा|

वंशलोचन, घीक्वार तथा उल्लू की आंख का अंजन करने पर प्रेमी वशीभूत रहता है|

Avivahit Vashikaran Ke Tantrik Totke

1. युवती के बाल प्राप्त करें और काली मंत्र का 108 बार जाप करते हुए उसे अपने बालों के साथ जला दें|

2. युवती के बाल प्राप्त करें और उसे गधे की लीद के साथ मिटटी मे दबाकर प्रतिदिन प्रात:काल उस पर मूत्रत्याग करें|

3. युवती के घर के कुत्ते को अपने मूत्र से सने आटे की रोटी बनाकर 21 दिनों तक खिलायें|

4. सौफ एव इलाइची के दानों को अपने सिरहाने मे डाल दें| सात दिन बाद उसका शर्बत बनाकर किसी युवती को पिलायें, तो वह वश मे होगी|

5. चाय की पती को अपने पसीने से छीटे दे देकर मिलायें और छाया मे सुखाये| इस चाय को खिलाने पर युवती वश मे हो जाती है| शर्त यह है कि पसीना लेते समय आपके मन मे उस युवती की चाहत की कामना हो|

6. तुलसी के पौधे की जड़ मे केसर, गोरोचन, आक की राख, अपने बाल की राख एव लौंग डाले और इक्कीस दिन बाद इसके कोमल पतो को चरणाम्रत या मिठाई के रूप मे जिस अविवाहित युवती को खिला देगे, वह वश मे हो जाएगी|

Jafran Vashikaran

जाफरान, लौंग, मुर्गे का पंख, अनार के फूल, कासिनी के फूल इन सबको लेकर और वाशित नारी के घर के समीप सिथित किसी वृक्ष की पतली जड़ो को लाकर 1188 मंत्र से अभिमंत्रित करें और इन सबको मिलाकर 108 मंत्रो से होम करें, तो वह नारी चाहे कितनी भी घमंडी, रुपगविता या अहंकारी हो आपके वश मे हो जायेगी|

जाफरान वशीकरण ये सब बाबा जी के बिना नहीं हो सकता| अगर आप किसी पानी चाहते है तो एक बार मोलवी जी को जरूर कॉल करें|

Bel Vashikaran

बेल वशीकरण एक सरल और आसान किरया है| जिस से आप अपनी चाहने वाली को वश मे कर सकते है|

किसी बेल के पेड़ के नीचे उतर की और मुख करके आसन लगायें| आसन काले कम्बल पर लगायें, जो भेड़ के शुद्ध ऊन से बना हो| कम्बल मे काले मुर्गे के पंखो को रखें|

जिस नारी पर वशीकरण करना हो, उसके नाम से सफ़ेद कासनी के फूल एव बेलपत्र के पतो पर मंत्र पढ़कर करें| होम बेल की ही समिधा मे करें| 1188 आहुति देने पर वह युवती ह्रदय से साधक के वश मे हो सकती है|

Naukari Pane Ka Mantar


ऊँ नम: भगवती पदमावती ऋद्धि सिद्धिदायिनी

दुःख:-दारिद्र्य हारिणी श्री श्री ऊँ नम:कामाक्षाय ह्री ह्री फट स्वाहा|

विधि - शनिवार के दिन शनिदेव की विधिवत पूजा करने के बाद ऊपरोक्त मंत्र का 1008 जाप करना चाहिये | श्रद्धा  भाव से जाप प्रारंभ करने तथा निर्विघ्न समाप्त कर लेने के पश्चातृ मंत्र सिध्द हो जाता है | नोकरी ढूढने जाने से पूर्व 11 बार मंत्र का जाप करना चाहिये और चलते समय कपिला गाय को आटा और गुड़ खिलाकर प्रणाम करना चाहिये | ऐसा करके प्रस्थान करने पर निश्चय ही नोकरी की प्राप्ति होगी|

Nimbu Vashikaran


बिजौरा नीबू के बीज, बेल के बीज, भांग के बीज, अपामार्ग के बीज, सिरस के बीज का समान भाग लेकर उन्हें विष्णु की मूर्ति के सामने ब्रह्नमुहूर्त मे घोटे| घोटते समय निवस्त्र बैठे | इस समय श्रीकृष्ण या विष्णु के मंत्र का जाप करें| 108  मंत्र का जाप करें इसके बाद प्रतिदिन 108 अधिक जोड़ते हुए 21 दिन तक जाप करें| घोटते मे बिजौरा नीबू के रस का प्रयोग करें|

21 दिन बाद विष्णु की पूजा अर्चना करके इस मिश्रण को मटर के बराबर गोलिया बनाकर छाया मे सुखा लें| इस गोलियों मे से एक को पीसकर बकरी के दूध मे 21 मंत्रों से घोटकर जब भी सम्पूर्ण शरीर मे मालिश करके पन्द्रह मिनट तक स्नान करके कही जायेगे, राह चलते लोग प्रभाव मे आकर सुध बुध भूल जायेंगे| 

Rakt Vashikaran


किसी युवती के मासिक के रक्त लगे वस्त्र को प्रप्त करके यदि उसमे अपनी अनामिका का रक्त मिलाकर धूप गुग्गल दिखाकर सामने रखकर यदि चमेली के तेल का दीपक जलाकर गुलाब की पतियों, लौंग, सौंफ, मधु और घी का हवन करते हुए काली का मंत्र 1188 मंत्र का जाप किया जाये, तो वह युक्ती साधक के वश मे हो जाती है और सदा वश मे रहती है |

रक्त वशीकरण से आप किसी युवती को वश मे कर सकते है | पर यह टोटका बाबा जी के बिना पूरा नहीं हो सकता | अगर आप ने यह टोटका करना है तो एक बार जरूर बाबा जी से कांटेक्ट करे|

Billi Vashikaran Upay


बिल्ली वशीकरण उपाय अब हिन्दी मे |

यह एक कामुक भाव का वशीकरण है | इसमे प्रबल काम भाव का होना आवश्यक है | किसी काली बिल्ली को 24 घंटे भूखा रखे, फिर 108 मंत्रों से अभिमंत्रित लहसुन एव तिल के साथ दूध मिलाकर उसे खिला दे | जब वह मलत्याग करेगी, तो उसमे तिल होगा | उस तिल को धोकर रख लें | इस तिल को पीसकर गोरोचन एव दूध के साथ तिलक से जो देखेगी, वही वशीभूत होगी और जिसे देखकर मंत्र पढेंगे वह वश मे होगी |

Shatru Nashak Mantra


शत्रुनाशक मंत्र हिन्द मे:

ऊँ ह्री श्री अमुक दुष्टम् साध्य

साध्य अ सि आ उ सा नम: |

इस मंत्र  का 21 दिन तक प्रात: काल रोज 108 बार जाप करना चाहिये | फिर जब काम पड़े, तो 108 बार मंत्र का जाप करने मात्र से शत्रु का भय, क्लेश व आप्ति का निवारण होता है | अमुक के स्थान पर शत्रु के नाम का उचारण करना चाहिये |

Anar Ka Bandha


अनार का बांधा आप को हर बुरी बला से बचाता है | हम ने कुछ उपाय निचे दिये है |

जिस दिन ज्येष्ठा नक्षत्र हो, अनार का बांधा ले आये और उसे विधिवत् पूजा करके, घर के मुख्य द्वार पर सुरक्षित रूप मे रख दें | इस प्रयोग के प्रभाव से, घर मे आया हुआ दुर्भाग्य, दुष्ट गृहो का प्रयोग, नजर टोना, अभिशाप सब समाप्त हो जाता है |

Lal Gulab Vashikaran

लाल गुलाब के अचूक चमत्कार वश मे करने के लिये:

लाल गुलाब के किसी पौधे मे प्रतिदिन जल देकर उसकी सेवा करें और प्रात: काल सात मोहिनी मंत्र पढ़ कर उसे धूप - दीप दिखाये | इस समय उस नारी का स्मरण करेंजिसे वशीभूत करना हैं, तो 21 दिन मे वह नारी आपके प्रेम मे वशीभूत होकर आपके समीप आने का प्रयत्न करने लगेगी |

Bhoot Utarne Ka Mantra


ऊँ नमो ऊहा होहू नमो भूतनायक |

समस्त भुका भूता निसाध्य वहेऊ

इस मंत्र के जप की शुरुआत शनिवार के दिन करनी चाहिए | अर्द्धरात्रि मे किसी एकांत निर्जन स्थान पर बैठकर 144 मंत्र का जाप लगातार 21 दिनों तक करने के पश्चात सिद्धि प्राप्त होती है | जाप के समय सरसो के तेल का दीपक या गुग्गुल धूप भी जला देनी चाहिए और प्रसाद मे बताशे का प्रयोग करना चाहिए | सिद्ध हो जाने पर मंत्र पढ़ते हुए मोर के पख से झाड़ने पर भूत उतर जाता है |

Dukan Chalane Ka Mantra




दुकान चलाने का मंत्र का अनुवाद हन्दी मे:

दुकान को सुचारु रूप से चलाने एव लश्मी प्रप्ति के लिये यह मंत्र अतयन्त लाभदायक है | इसे अर्द्धरात्रि के समय जपा जाता है | एकांत कमरे मे माता लश्मी की प्रतिमा स्थापित कर एकगर भाव से नित्य 108 मंत्रों का जाप करना चाहिये | यह जाप 90 दिनों तक लगातार करने पर मंत्र सिद्ध होता है | मंत्र सिद्ध हो जाने के बाद इसे मंत्र के दुआरा जल को सात बार पढ़कर अभिमत्रित करने के पश्चात दुकान मे चारो और छिड़क देना चाहिये | ऐसा प्रत्येक  दिन करने पर दुकान सुचारु रूप से चलने लगेगी |

श्री शुक्ले महाशुक्ले कमलदल निवासे श्री महालश्मी नमो नम :|

लश्मी माई, सत की सवाई

आओ चेतो करो भलाई

न करो सात समुन्द्र की दुहाई तर्द्धि सिद्धि खगैतो नौ नाथ, चौरासी सिद्धों की दुहाई |

Pati Vashikaran Mantra Hindi


पति वशीकरण मंत्र हिंदी |

ॐ अभित्वा मनुजतेंन दधामि मम वासमा | 

यता सो मम केवलो नान्यसा कीर्तयशच चा ||

जब किसी स्त्री का पति उसके अनुकूल ना हो अथवा ओरतो पर आसतिृ अधिक रखता हो , तो स्त्री को इस मंत्र का नित्ये 21 बार जाप करना चाहिये | 41  दिन के पश्चात मंत्र सिद्ध होता है, इसके बाद वह स्त्री अपने बदन पर जिस कपड़े को धारण करना चाह रहीं हो, उस पर उपरोकत मंत्र से 21 बार पढ़कर फुक मारे, ततयशचात उस वस्तर को धारण कर अपने पति के पास जाये, पति वश मे हो जायेगा तथा भी परायी स्त्री की तरफ नजर नहीं उठायेगा |

Supari Vashikaran Totka

सुपारी वशीकरण आदमी और औरत के लिए |

पीर मैं नाथ |
प्रीत मैं माथ |
जिसे खिलाऊ वह मेरे साथ ||
यह सुपारी मेरे दिल का |
यह सुपारी मेरे मन का |
यह सुपारी सुन्दर वन का |
जो खाये सो भटके वन मे |
ढूढ़े मुझको तड़पे वन मे |
बिना डोर बंध कर चलि आवे |
कामाख्या देवि शक्ती दिखावे ||
शब्द सांचा पिण्ड काचा |
फुरो मंत्र ईश्वरो वाचा ||

इस की सिद्धि के लिऐ कोई ऐसा जलाशय, टब या बाथटैंक चाहिये, जिसमे शारीर गर्दन तक डूब जाये | एक छोटी स्वस्थ पकी हुई सुपारी लेकर उसे घी मे तर कर ले उसके बाहरी आवरण के छिलके को देख ले कि कही उसमे छिलका न लगा हो | इसे घी के साथ पानी से निगल जाये | ( साबूत पूरा ) और बिना वस्त्र के पानी के अन्दर गर्दन डुबाकर 1188 बार इस मंत्र का जाप करें |

इतने समय तक पानी बर्दास्त नहीं हो तो प्रथम 1080 मत्र बहार ही सुखासन मे बैठकर जप ले, फिर 108 मत्र पानी मे जपे |

प्रत: काल शौच के समय ध्यान रखे | यह सुपारी निकलेगी | इसे उठाकर अपने स्नान के पानी से धो ले और सुखाकर रख ले | इस सुपारी का एक छोटा टुकड़ा जिसे खिला देंगे  वह वश मे हो जायेगा और सदा आपके वश मे रहेगा |

Vashikaran Specialist in Delhi | Noida | Gurgaon

Vashikaran specialist is very utilized by the wives who need to rule their spouses. It has seen that spouses stay less keen on their wives aside from of physical delight so it gets to be important to utilize the Vashikaran to actuate the enthusiasm for wedded life.

Possibly you need to your spouse/wife back in your life, in the event that it is along these lines, the Vashikaran mantra ought to be utilized to done this work soon. Each man wants for a lovely lady who will focus on him consistently. In the event that you are comparative sort of a man, who needs comparable sort of lady who will look after you, then we will give you the time-tried technique to do as such. Vashikaran mantra is the key of fascination. You can pull in any lady in your area. When you will get the most wonderful lady, your life will get change. A lady wishes for a minding and cherishing man can utilize the Vashikaran to make her fantasies genuine.

Vashikaran is additionally valuable for a specialist to pull in more clients in business. Now and then, you lose arrangements while you were in last stage to bolt it. Vashikaran can be utilized to keep up the solidness of brains of your clients. We can give you a Vashikaran mantra to stop the diversion of clients with the expectation that you.

vashikaran on photo

start this dark enchantment on new moon and recite this for 666 times on lovers or ex photo stabbing a knife in her heart after each 106 times and after you have finished take the picture and burn it in pure butter visualizing that your lover is burning in love and lust for you.this will bring back your ex lover or husband/wife in 11 days.

things needed

photo
knife
lighter
butter
cotton

mantra (oom khuon haren haren aherang sawaha)

Amrood Vashikaran Totka

English Version:

Eat an Amrood without chewing the seeds in it while chanting Durga Mantra. In the early morning do toilet on a ground or into a container made of mud.  Now put some soil into that mud and keep it under the rays of Sun. After three days sprindle some water on that container while chanting durga mantra. After some time it will be planted. Now plant it somewhere in your backyard. Whomsoever will eat the Amrood will be under your control.


Hindi Version:

बीजों वाला देशी अमरुद बीजों  को बिना चबाये रात्रि मे दुर्गाजी के मंत्र का मन ही मन जाप करते हुए खा जाये | प्रत: काल शौच किसी भूमि पर करें या मिटटी की हांडी मे कच्ची मिटटी दाल कर करें और उसे धूप मे रख दें | तीन दिन बाद उसमे दुर्गामंत्र के साथ जल के छींटे दें | उसमे पौधे उगेंगे | इन पौधों को बाग में लगा दें | इनमें जो अमरुद खायेगा, आपके वशीभूत होगा |